Kushum Yojana Rajasthan | कुसुम योजना राजस्थान

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

प्रदेश के किसान अपने खेत में कुसुम योजना के अंतर्गत सौर ऊर्जा संयंत्र की स्थापना कर सकते हैं। योजना का लाभ पाने के लिए ई-मित्र केन्द्र से आवेदन कर सकते हैं।

क्या है प्रधानमंत्री कुसुम योजना2024

इस योजना से जुड़ना काफी आसान है, अगर आपके पास ग्रामीण क्षेत्र में जमीन है और आप एक भारतीय नागरिक हैं, अगर आपके पास खुद की जमीन नहीं है तो आप लीच पर जमीन लेकर कुसुम सोलर पंप योजना के लाभार्थी भी बन सकते हैं। और आप इस योजना के लिए आवेदन कर सकते हैं।

कुसुम योजना का उद्देश्य

Kusum Yojana को शुरू करने का उद्देश्य यह है कि किसानों को इसके माध्यम से सिंचाई करने में फ्री बिजली मिल पायेगी क्यूंकि देश में कई ऐसे राज्य है जहाँ पानी की समस्या अधिक होती है जिससे किसानों को खेती करने में बहुत दिक्कतों का सामना करना पड़ता है परन्तु इस योजना के माध्यम से सरकार किसानों को सौर ऊर्जा से चलने वाले सोलर पंप प्रदान करेगी इसके लिए उन्हें केंद्र सरकार और राज्य सरकार की तरफ से मदद राशि भी प्रदान की जाएगी केवल उन्हें खुद से 10% का भुगतान करना होगा। सोलर पंप के माध्यम से उन्हें सिंचाई करने में आसानी भी होगी जिससे उन्हें कई लाभ मिल सकेंगे।

PMKY जानिए क्या है कुसुम योजना

जानिए क्या है PMKY कुसुम योजनाकुसुम योजना 2024 की शुरुआत राज्य के किसानों के लिए PMKY योजना की गई है। इस योजना के अंतर्गत राज्य के जो इक्षुक किसान अपनी कृषि सिंचाई के लिए सौर ऊर्जा पंप लगाना चाहते है उन्हें 60% की सब्सिडी राशि प्रदेश सरकार की तरफ से प्रदान की जाएगी। कुसुम योजना 2023 का संचालन PMKY अक्षय ऊर्जा निगम लिमिटेड (RRECLMIS) विभाग के द्वारा किया जा रहा हैं। राज्य के जिन सीमांत किसान पास 2 हेक्टयर तक जमीन है वह Kusum Yojana में आवेदन करके 60% की सब्सिडी के कृषि सिंचाई लिए 0.5 मेगावाट से लेकर 2 मेगावाट तक के क्षमता सौर ऊर्जा पंप के खरीद सकते हैं। इस योजना में करने के लिए किसानों को आवेदना पीडीएफ फॉर्म मि अवश्यकता पड़ेगी इसलिए नीचे हमने इसका आवेदन फॉर्म और आवेदन फॉर्म में लगाने के जरूरी दस्तावेज आदि के बारे में पूरी जानकारी साझा की हैं।

1 कितने केटेगरी में है ये योजना ? 

कुसुम योजना को 3 कैटेगरी में लाया गया है, जिससे किसान न सिर्फ केबल फार्मिंग कर सकता है, बल्कि बिजलीआसपास और दूर-दराज के इलाकों में भी पहुंच सकता है. –

सोसायटी के माध्यम से 500 से 2000 केवी के पौधे विकसित किए जाएंगे।

5 किमी के दायरे की जमीनों पर विकसित होंगे सोलर प्लांट.

साथ ही इन संयंत्रों से बनने वाली बिजली को किसान डिस्कॉम को बेचा जाएगा।.

2 प्रधानमंत्री कुसुम योजना के तहत सोलर पंप पर कितनी सब्सिडी दी जा रही है ? 

मोदी सरकार ने साल 2019 में प्रधानमंत्री कुसुम योजना की शुरुआत की थी। यह योजना ऊर्जा मंत्रालय की तरफ से चलाई जा रही है। और इस योजना का लाभ देश के सभी किसान उठा सकेंगे और अपनी जमीन में सोलर पंप लगवाकर आसानी से सिंचाई कर सकेंगे।

प्रधानमंत्री कुसुम योजना के तहत किसानों को सोलर पंप या नलकूप लगाने पर सरकार द्वारा 60% तक की सब्सिडी और बैंक द्वारा 30% का ऋण दिया जाता है। इस योजना के तहत किसानों को लागत का केवल 10% ही भुगतान करना होगा।

केंद्र सरकार और राज्य सरकार 30-30 प्रतिशत की सब्सिडी प्रदान करेंगे।

30 प्रतिशत तक ऋण की सुविधा बैंकों द्वारा दी जाएगी।

किसानों को लागत का केवल 10% ही भुगतान करना होगा।

अधिक जानकारी के लिए यहां क्लिक करें 

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now